15 अगस्त: पाकिस्तान का आजादी दिवस?

pakistan

पाकिस्तान अपना आजादी दिवस या स्वतंत्रता दिवस हर साल 14 अगस्त को मनाता है। यानी भारत के स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले। यह रोचक है कि दोनों ही देश अंग्रेजों की गुलामी से एक ही दिन, एक ही कानून के जरिए आजाद हुए तो इनके स्वतंत्रता दिवस अलग अलग कैसे हैं? पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार व शोधार्थी अख्तर बलूच ने इस सारे मुद्दे व विवाद पर एक आलेख लिखा था जो डॉन अखबार में प्रकाशित हुआ।

इसमें उन्होंने लिखा कि दुनिया यही मानती व मनाती है कि पाकिस्तान 14 अगस्त 1947 को दुनिया के नक्शे पर आया। लेकिन इतिहासकारों की राय व इतिहास के लिहाज से यह मामला थोड़ा पेचीदा दिखता है।

यहां उन्होंने इतिहासकार के के अजीज की किताब मर्डर आफ हिस्ट्री का जिक्र किया है। इस किताब के 180वें पेज पर लिखा गया है,’पाकिस्तान 14 अगस्त को आजाद हुआ यह आम व आधिकारिक सोच है, जो सही नहीं है। इंडियन इंडीपेंडेंस बिल चार जुलाई को ब्रितानी संसद में पेश हुआ और 15 जुलाई को कानून बन गया उसके अनुसार दो नये ‘डोमिनियन भारत व पाकिस्तान, 14—15 अगस्त की मध्यरात्रि को आजाद हो जाएंगे।’

इसके अनुसार,’वायसराय द्वारा इन दोनों नये देशों को सत्ता का हस्तांतरण व्यक्तिगत रूप से किया जाना था जो कि भारत में ब्रिटेन साम्राज्य के एकमात्र प्रतिनिधि थे। लार्ड माउंटबेटन एक साथ नयी दिल्ली व कराची में उपस्थित नहीं हो सकते थे। वे ऐसा भी नहीं कर सकते थे कि 15 अगस्त को भारत को सत्ता हस्तांतरित कर, कराचाी जाएं क्योंकि तब उनका पद नये भारतीय राष्ट्र के गवर्नर जनरल का होता। इसलिए व्यावहारिक समाधान यही था कि वे वायसराय आफ इंडिया रहते हुए 14 अगस्त को ही पाकिस्तान को सत्ता हस्तांरित करें। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि पाकिस्तान 14 अगस्त को आजाद हो गया।  इंडियन इंडीपेंडेंस एक्ट में ऐसी कोई बात नहीं है।’

आलेख में उन्होंने कायदे आजम मोहम्मद अली जिन्ना के उस संदेश का जिक्र भी किया है जो उन्होंने 15 अगस्त 1947 को पाकिस्तान ब्राडकास्टिंग सर्विस की शुरुआत करते हुए दिया। उन्होंने देश के नाम यह संदेश जारी किया,’हार्दिक प्रसन्नता के साथ मैं अपनी शुभकामनाएं देता हूं। 15 अगस्त स्वतंत्र व संप्रभु पाकिस्तान का जन्मदिन है।’

अख्तर ने इंडियन इन्डिपेन्डन्स एक्ट 1947 का भी जिक्र अपने आलेख में किया है। इसके अनुसार

इंडियन इन्डिपेन्डन्स एक्ट 1947 के के अजीज के इस तर्क की पुष्टि करता है। इस कानून के खंड एक के अनुच्छेद एक के अनुसार: ”15 गस्त 1947 के दिन भारत में दो स्वतंत्र देश स्थापित होंगे जिन्हें क्रमश: भारत व पाकिस्तान के नाम से जाना जाएगा।’

पूरा आलेख यहां पढ़ें.

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटरपर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App

Source - अख्तर बलूच, डॉन