beingindian.com/lifestyle/what-indian-men-want-from-their-wives

28DMCDUM_LAGA_KE_H_2324659f

एक ठेठ भारतीय मर्द (जिसमें सभी शामिल नहीं है) शादी के लिए जो ख़ासियत लड़की के बारे में सोचता हैं वो शादी के बाद गायब कैसे हो जाती है? हालांकि ये दुनिया का दस्तूर है शादी से पहले जो सोच गर्लफ्रेंड के बारे में होती है जैसे कि- वो छोटे कपड़े पहने, आपको बार में कंपनी दे, आपके पुरुष दोस्तों के साथ सहज रहे शादी होते ही बदल क्यों जाती है? क्यों ये सारी चीजें परेशानी का सबब बन जाती हैं ?

क्यों भारतीय मर्द शादी के बाद रूढ़ीवादी हो जाते हैं? कुछ बातें हैं जो शादी से पहले बहुत अच्छी लगती हैं लेकिन शादी के बाद मुसीबत बन जाती हैं वो सारा प्यार वो सारे नखरे अचानक ही जी का जंजाल क्यों बन जाते हैं? प्यार, इज़हार, कपड़े, त्योहार, नौकरी सभी जगह वो पहली वाली बात क्यों नहीं रहती?

ये सब जानने के बावजूद अगर आप इस तरह के पति की तलाश में है तो शायद आपको किसी काउंसलर की ज़रूरत है।

 यहां पढ़ें पूरी स्टोरी 
 

 

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटरपर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App

Source - तनवी देशमुख

बड़ी खबरें

6 September 2016