ताजा समाचार

बच्चे हैं दुनिया के आधे से अधिक शरणार्थी

4928

दुनिया की आबादी में बच्चों की भागीदारी भले ही एक तिहाई हो, शरणार्थियों की आबादी में आधे से अधिक बच्चे ही हैं. यह चौंकाने वाला आंकड़ा संयुक्तराष्ट्र की संस्था यूनिसेफ ने पेश किया है.

पिछले पांच वर्षों में दुनिया के विभिन्न हिस्सों में शुरू नए संघर्षों और पहले से चल रही लड़ाइयों के जारी रहने के कारण बाल शरणार्थियों की संख्या में 75 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज हुई है. इस समय दुनिया में करीब 80 लाख बच्चे शरणार्थी का जीवन जीने को अभिशप्त हैं. शरणार्थी बच्चों के मानव तस्करी समेत विभिन्न दुर्व्यवहारों का शिकार बनने की आशंका बढ़ जाती है.

गार्डियन अखबार ने यूनिसेफ की रिपोर्ट को विस्तार से प्रकाशित करते हुए उल्लेख किया है कि 2015 के आंकड़ो के अनुसार इस समय कुल अंतरराष्ट्रीय मानव विस्थापन  में आठवां हिस्सा बच्चों का है. ऐसे बच्चों को बड़ी संख्या में अमेरिका, सऊदी अरब और जॉर्डन में ठौर मिला है.

यूनिसेफ के अनुसार दुनिया के बाल शरणार्थियों में से तीन चौथाई सिर्फ 10 देशों के हैं. वहीं संयुक्तराष्ट्र शरणार्थी उच्चायुक्त (यूएनएचसीआर) की देखरेख में मौजूद बाल शरणार्थियों में से आधे सिर्फ दो देशों – सीरिया और अफगानिस्तान – के हैं.

यूनिसेफ ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से शरणार्थी का जीवन व्यतीत करने को विवश बच्चों की सहायता के लिए तत्काल कदम उठाने की अपील की है. इसने सरकारों से मांग की है कि हिरासत में रखे गए शरणार्थी बच्चों को तुरंत रिहा किया जाए और उन्हें उनके परिवार के साथ रहने दिया जाए.

इस बारे में लंदन से प्रकाशित गार्डियन अखबार की संपूर्ण रिपोर्ट पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटरपर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App

Source - गार्डियन

बड़ी खबरें

8 September 2016