ट्रंप-मोदी की फटकार के बाद पाकिस्तान के बचाव में आया चीन

BY EP Hindi | PUBLISHED: 28 June 2017

चीन ने अपने सदाबहार साझेदार पाकिस्तान का मजबूती के साथ बचाव करते हुए बुधवार को कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में पाकिस्तान सबसे आगे खड़ा रहा है। चीन की ओर से यह बयान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच बातचीत के बाद जारी संयुक्त बयान की प्रतिक्रिया में आया है। साझा बयान में कहा गया था कि पाकिस्तान सीमापार आतंकवाद पर अंकुश लगाए।

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लु कांग ने बीजिंग में संवाददाताओं से कहा, ‘चीन का मानना है कि आतंकवाद के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय सहयोग को बढ़ाना चाहिए। अंतरराष्ट्रीय समुदाय को इस संबंध में पाकिस्तान के प्रयासों को पूर्ण मान्यता और समर्थन देना चाहिए।’

लु ने कहा, ‘हमें कहना चाहिए कि पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आगे खड़ा रहा है और इस संबंध में प्रयास कर रहा है।’ भारत और अमेरिका ने पाकिस्तान से कहा था कि वह यह सुनिश्चित करे कि उसकी सरजमीं का इस्तेमाल सीमा पार आतंकवाद के लिए ना किया जाए।

पीएम मोदी और डोनाल्ड ट्रंप की मुलाकात के बाद साझा बयान में पाकिस्तान का आह्वान किया गया था कि वह मुंबई, पठानकोट और दूसरे सीमा पार आतंकी हमलों के षडयंत्रकारियों को न्याय के जद में लाए।

प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रपति ट्रंप ने आतंकवाद का मुकाबला करने और आतंकवादियों की पनाहगाहों को खत्म करने के लिए प्रयास तेज करने का संकल्प लिया। पीएम मोदी और ट्रंप की मुलाकात से पहले अमेरिकी विदेश विभाग ने हिज्बुल मुजाहिदीन के सरगना सैयद सलाहुद्दीन ‘वैश्विक आतंकवादी’ घोषित किया था।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटरपर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App

Source - एडिट प्लैटर