ताजा समाचार

रिपब्लिकन समर्थकों को डरा देगा यह नया सर्वेक्षण

061516-shows-breaks-donald-trump-speech-1

अमरीका में राष्ट्रपति पद के लिए जारी चुनाव अभियान के बीच एक नया सर्वेक्षण आया है। इसके अनुसार अमरीका की नई पीढ़ी या युवा रिपब्लिकन पार्टी से छिटक रहे हैं। वाशिंगटन पोस्ट में ग्रेग सार्जेंट ने इस सर्वे पर आधारित एक लेख लिखा है। इसमें यह सवाल उठाया गया है कि क्या रिपब्लिकन पार्टी ने डोनल्ड ट्रंप को राष्ट्रपति पद के लिए अपना उम्मीदवार बनाकर गलती की है? इसमें आशंका जताई गई है कि ट्रंप की उम्मीदवारी की कीमत पार्टी को युवा मतदाताओं को गँवाकर चुकानी पड़ सकती है।

रपट में राजनीतिज्ञ जैब बुश के पूर्व सलाहकार टिम मिलर के हवाले से कहा गया है कि रिपब्ल्किन पार्टी के दो सम्मेलनों :जीओपी: से ऐसा कोई संकेत नहीं मिलता कि 18 साल औसत आयु के किसी युवा को इस पार्टी से क्यों जुड़ना चाहिए। या कि ऐसे युवा को क्यों रिपब्लिकन होना चाहिए। मिलर के अनुसार,’हम एक पीढ़ी को गंवा रहे हैं।’

रपट में ‘यूएसए टुडे: रॉक द वोट’ सर्वे का हवाला दिया गया है। इसके अनुसार युवाओं के पार्टी से छिटकने की आशंकाओं के लिहाज से यह सर्वेक्षण अच्छा नहीं है।

इस नये सर्वेक्षण का सार रिपब्ल्किन पार्टी को और चेतावनी देने वाला है। इसके अनुसार 35 साल से कम आयु वाले मतदाताओं में हिलेरी क्लिंटन ट्रंप को 56—20 के अंतर से पराजित कर रही हैं। एक्जिट पोल की बात करें तो 2008 में जॉन मकेन को 18—30 आयुवर्ग के मतदाताओं में से 32 प्रतिशत के वोट मले। 2012 में मिट रोमनी ने इस आयु वर्ग में 36 प्रतिशत मतदाताओं को जीता हालांकि यह अपने आप में कोई सटीक तुलना नहीं है।

नये सर्वे के अनुसार 35 साल से कम आयु वर्ग के आधे मतदाता खुद को डेमोक्रेट के साथ जुड़ा हुआ या उसकी ओर झुका हुआ पाते हैं;  वहीं रिपब्ल्किन के प्रति झुकाव रखने वाले सिर्फ 20 प्रतिशत है। सात प्रतिशत स्वतंत्र हैं जबकि अन्य 12 प्रतिशत किसी ओर पार्टी के साथ जुड़ाव पाते हैं या इस बारे में जानते नहीं हैं।

इस लेख में ग्रेग ने दरअसल यह बताने की कोशिश की है कि अपनी नीतियों, भाषणों, सोच व कार्यव्यवहार से डोनाल्ड ट्रंप किस तरह से युवा मतदाताओं से छिटक रहे हैं। या कि वे युवा मतदाताओं को खुद से जोड़ नहीं पा रहे हैं जो कि राष्ट्रपति पद चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी के लिए किस तरह से भारी पड़ सकता है।

वॉशिंगटन पोस्ट की पूरी रपट यहाँ पढ़ें।

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटरपर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App

Source - ग्रेग सार्जेंट, वॉशिंगटन पोस्ट