उप्र में भ्रष्टाचार एवं जातिवाद की जगह नहीं : योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर अपने संबोधन में कहा कि राज्य में जातिवाद और भ्रष्टाचार की कोई जगह नही है। उन्होंने इस अवसर पर राजधानी लखनऊ में तिरंगा फहराया। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने देश के शहीदों को नमन किया श्रद्धांजलि दी। योगी आदित्यानाथ ने ध्वजारोहण के बाद संबोधन में कहा, “देश के विकास का रास्ता उत्तर प्रदेश से ही होकर गुजरता है।”उन्होंने इस मौके पर इशारों ही इशारों में गोरखपुर हादसे के लिए इंसेफेलाइटिस को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि इंसेफेलाइटिस का खात्मा स्वच्छता से ही किया जा सकता है।

योगी ने इस मौके पर 1857 की क्रांति को याद करते हुए कहा कि आजादी का पहला संग्राम उत्तर प्रदेश की भूमि से ही शुरू हुआ। स्वतंत्रता दिवस आत्मचिंतन करने तथा महान देशभक्तों के सपनों को पूरा करने का अवसर देता है। उन्होंने कहा कि भारत को विकसित, समृद्ध करना है तो इसका रास्ता सिर्फ उत्तर प्रदेश से होकर गुजरता है। उत्तर प्रदेश की 22 करोड़ की जनता का विकास होने से ही देश का विकास संभव है।

योगी ने कहा कि आज का दिन संकल्प लेने का भी है। संकल्प एक साथ मिलकर भारत और प्रदेश की उन्नति करने का है। उन्होंने कहा,”सामूहिक शक्ति से ही सामूहिक देश का निर्माण किया जा सकता है। हमारे काम करने का मकसद किसी जाति-धर्म के लिए नहीं, बल्कि लोक कल्याण होना चाहिए। हम यूपी को सभी क्षेत्र में सबसे आगे देखना चाहते हैं।”

योगी ने कहा कि हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि हमे देश के संविधान के अधीन ही काम करना होगा। देश की सीमाओं की रक्षा के लिए जवानों ने अपना सब कुछ न्यौछावर किया है। हमें उनकी कुबार्नी को बनाए रखना होगा। उन्होंने कहा कि हमें संकल्प लेना होगा, जिसमें 2017 से 2022 तक राज्य को देश के सर्वोत्तम प्रदेश की श्रेणी में लाना होगा। भारत आतंकवाद, जातिवाद जैसी चीजों से मुक्त हो, इसकी पहल उत्तर प्रदेश से करनी होगी।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटरपर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App

Source - एडिट प्लैटर