ताजा समाचार

एक चर्चित तस्वीर की यात्रा!

che guevara

प्राय: कहा जाता है कि एक तस्वीर कई सौ शब्दों के बराबर होती है। तस्वीर मूक रहकर भी बहुत कुछ कह जाती है। ऐसी ही एक तस्वीर चे गवेरा की है। दक्षिण अमरीकी क्रांतिकारी चे गवेरा की यह तस्वीर अपने आप में बहुत कुछ बयां करती है।

पाकिस्तानी अख़बार डॉन में प्रकाशित एक रपट के अनुसार चे गवेरा की यह तस्वीर दुनिया में सबसे अधिक ‘आइकानिक’, चर्चित, पहचानी जाने वाली और यहाँ तक कि सबसे अधिक बिकने वाली तस्वीर है। यह तस्वीर उनके चेहरे की है जिसमें वे चिंतातुर आंखों से कहीं देख रहे हैं। हल्की मूंछे, हल्की बिखरी दाढी और वैसे ही बेतरतीब लंबे बाल तथा उनके उपर काले रंग की टोपी। क्या जम रही है?

माइकल जे केसी ने इस पर एक किताब लिखी है ‘द लिगेसी आफ एन इमेज’। इसके अनुसार 1960 दशक के अंतिम वर्षों से लेकर अब तक इस तस्वीर का इस्तेमाल क्रांतिकारी संगठनों, राजनीतिक दलों, पेंटरों, रॉक बैंडों व विज्ञापन एजेंसियों ने उसी तरह किया है जिस तरह से डिस्नी के विभिन्न प्रसिद्ध चरित्रों का किया गया। यानी अपने अपने उद्देश्यों के लिए बड़े पैमाने पर।

लेकिन फर्क बहुत है। डिस्नी के सारे चरित्र तो बने ही इसलिए थी कि वे ज्यादा से ज्यादा बिके और उनसे मुनाफा कमाया जा सके। वहीं चे की यह तस्वीर तो एक भूली बिसरी या यूं ही ले ली गई फोटो थी जिसे कभी एक क्यूबाई फोटोग्राफर ने लिया।इसी तरह मिकी माउस या आयरन मैन जैसे चरित्रों की तुलना में यह एक वास्तविक हस्ती की तस्वीर है। यानी यह कोई कृत्रिम उत्पाद नहीं है।

लेखक का कहना है कि आज भी दुनिया भर में लोग इस फोटो के दीवाने हैं और इसमें उस नयी पीढ़ी का योगदान सबसे अधिक है जो शायद यह जानती भी नहीं है कि इस करिशमाई फोटो के पीछे कौनसा करिश्माई व्यक्तित्व छुपा है।

चे गवेरा: गौरतलब है चे गवेरा क्यूबाई क्रांति के आधार स्तंभों में से एक रहे। वे अर्जेंटीनी मूल के मार्क्सवादी क्रांतिकारी, चिकित्सक, लेखक, छापामार योद्धा, राजनयिक व सैन्य सिद्धांतकार थे।

पूरा लेख यहाँ पढ़ें।
http://www.dawn.com/news/1278755

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटरपर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App

Source - नदीम पराचा, डॉन