ताजा समाचार

प्रधानमंत्री मोदी के एक अध्यापक उन्हें आज भी पत्र लिखते हैं

482007-modi-mann-ki-baat

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक अध्यापक आज भी उन्हें पत्र लिखते हैं और उनके काम की समीक्षा करते हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने कल अपने रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ में इसका जिक्र किया। प्रधानमंत्री ने जीवन में शिक्षकों के महत्व को बताते हुए अपने एक शिक्षक के बारे में बताया जो 90 वर्ष के हो चुके हैं और हर महीने उन्हें पत्र लिखते हैं. उन्होंने बताया कि पत्र में वह किताबों का जिक्र करते हैं और मोदी के काम की समीक्षा भी करते हैं.

मोदी ने कहा कि उन्हें अपने उन स्कूल अध्यापकों से जुड़ी अनेक बातें आज भी याद हैं जिन्हें गुजरात स्थित छोटे से गांव में लोग ‘हीरो’ की तरह मानते थे। उन्होंने कहा कि उनके एक अध्यापक, स्कूलटीचर, तो आज भी उन्हें पत्र लिखते हैं। मोदी ने मन की बात में कहा,’उनकी उम्र 90 साल से अधिक है। फिर भी, वे अपने लिखे हुए पत्र हर महीने भेजते हैं। वे जो भी किताबें पढ़ते हैं उनकी चर्चा करते हैं और उनके उद्धरण भी देते हैं।’

मोदी ने बताया कि ये अध्यापक उन्हें, ‘महीने में मेरे द्वारा किए गए काम के बारे में भी राय देते हैं कि यह गलत था या सही.’ मोदी ने कहा,’यह ऐसा ही है कि जैसे वे अब भी मुझे कक्षा में पढ़ा रहे हैं। वे मेरे लिए अब भी कारेसपोंडेंस कोर्स चला रहे हैं। 90 साल की उम्र में भी उनकी साफ लिखावट प्रभावित करने वाली है। मैं जब भी इस तरह की सुंदर लिखावट देखता हूँ तो मुझे बहुत खुशी होती है।’

मोदी ने कहा कि उनकी खुद की लिखावट भी बहुत अच्छी है।

आगामी शिक्षक दिवस, पांच सितंबर को ध्यान में रखते हुए उन्होंने श्रोताओं से अपने अध्यापकों के साथ अनुभवों को नरेंद्र मोदी एप पर शेयर करने को कहा। उन्होंने कहा,’अध्यापकों के योगदान को छात्र की निगाह से देखना बहुत ही मूल्यवान अनुभव है।’

समाचार का लिंक यहाँ है।

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटरपर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App

Source - सुभद्रा चटर्जी, हिंदुस्तान टाइम्स