बुर्कीनी पर फ़्रांस की हठधर्मिता

19fri2web-master768

फ्रांस में स्कूलों में हिजाब व बुर्के पर प्रतिबंध है। छात्राओं की स्कर्ट की लंबाई को लेकर भी नियम हैं। अब वहां ‘बुर्किनी’ पर प्रतिबंध लगाया गया है। इससे एक नया विवाद खड़ा हो गया है। दरअसल बुर्किनी दो शब्दों बुर्का और बिकनी से मिलकर बना है। अधिकारियों का कहना है बुर्किनी उन आतंकवादी आंदोलनों के प्रति निष्ठा का प्रतीक है जिन्होंने फ्रांस के खिलाफ लड़ाई छेड़ रखी है।

न्यूयॉर्क टाइम्स ने अपने एक आलेख में कहा है कि मुस्लिम महिलाओं के परिधान को लेकर फ्रांस की स्थायी दिक्कत ने इस कदम के साथ हास्यास्पद व विवादास्पद रूप ले लिया है। गुरुवार तक फ्रांस के पांच मेयर अपने अपने यहां बुर्किनी पर प्रतिबंध लगा चुके हैं। मेयरों ने बुर्किनी को सामाजिक व्यवस्था, सफाई, जल सुरक्षा व नैतिकता के लिए खतरा बताया है और कहा है कि यह फ्रांस के खिलाफ लड़ाई का नया प्रतीक है।

फ्रांस में कान शहर ने सबसे पहले बुर्किनी पर प्रतिबंध लगाया। शहर के एक अधिकारी टियरी मिगोले ने इस परिधान को ‘फ्रांस के खिलाफ युद्ध कर रहे आतंकवादी आंदालनों के प्रति निष्ठा का प्रतीक’ करार दिया। आलेख में कहा गया है कि हाल ही में अनेक इस्लामी चरमंपथी आतंकी हमलों का सामने करने वाले फ्रांस में इस ‘उन्माद’ से देश के मुसलमान और हाशिए पर जाएंगे या निंदा का शिकार होंगे।

आलेख का कहना है कि चूंकि फ्रांस में आगामी वसंत में राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव होने हैं और देश में दक्षिणपंथी पार्टी नेशनल फ्रंट की लोकप्रियता लगातार बढी है इसलिए फ्रांसीसी अधिकारी व राजनेता मेयरों के इस तरह के कदम का समर्थन कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री मैन्युअल वॉल्स ने बुधवार को बुर्किनी को ‘महिलाओं की दासता’ का प्रतीक बताया और कहा कि यह ‘फ्रांसीसी मूल्यों के अनुकूल नहीं है।’

क्या है बुर्किनी : ‘बुर्किनी’ एक तरह का स्विम सूट है जिससे शरीर पूरी तरह से ढक जाता है। ये खासतौर से उन मुस्लिम महिलाओं के लिए बनाया गया था जो समुद्र में बिकिनी जैसे कपड़े नहीं पहन पाती हैं। बुर्का और बिकनी को मिलाकर इसका नाम बुर्किनी रखा गया।

दरअसल अहेदा जेनेटी मुस्लिम फैशन डिजाइनर अहेदा जेनेटी ने मुस्लिम महिलाओं की दिक्कतों को ध्यान में रखते हुए बुर्किनी डिजाइन की थी। यह हमेशा से राजनीतिक मुद्दा बनी रही है। बुर्किनी पहनने के बाद महिला सिर से लेकर पैर तक ढक जाती हैं। सिर्फ उसका चेहरा खुला रहता है। 2009 में फ्रांस में एक महिला ने सबसे पहले बुर्किनी पहनी थी। वह बुर्किनी पहनकर समुद्र पर गईं और चर्चा में आ गईं। इसके बाद इस मुस्लिम परिधान पर काफी बवाल मचा था। स्पेन, पुर्तगाल, ऑस्ट्रेलिया, इटली और अमेरिका में बुर्किनी पर प्रतिबंध है।

बुर्किनी विवाद पर पूरा आलेख यहाँ पढ़ें।

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटरपर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App

Source - न्यूयॉर्क टाइम्स